WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.27 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.28 AM (1)
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.28 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.29 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.30 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.31 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.36 AM (1)
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.36 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.35 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.35 AM
IMG-20220819-WA0003
IMG-20220830-WA0000
देश

इतनी गर्मी में शहर से गांव तक भीषण बिजली कटौती जिम्मेदार बने तमाशबीन लोगों में आक्रोश

महराजगंज इन दिनों जिले के ठूठीबारी नौतनवां सोनौली में अघोषित बिजली कटौती को लेकर उपभोक्ता खासा परेशान हैं। भीषण गर्मी और उमस से झुलस रहे बिजली उपभोक्ताओं को शासन द्वारा जारी किए गए निर्देश के मुताबिक बिजली नहीं मिल पा रही है। इसके चलते लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जहां बदन को झुलसाने वाली गर्मी है वहीं बिजली की भीषण कटौती से लोग त्रस्त हैं। उत्तर प्रदेश पाॅवर कार्पोरेशन लिमिटेड तथा प्रदेश की योगी सरकार ने ग्रामीण क्षेत्र को 18 घंटे बिजली आपूर्ति का रोस्टर जारी किया हुआ है, लेकिन लोगों को 10 घंटे भी बिजली नहीं मिल पा रही है। वहीं अगर नगर की बात करें तो बिजली की अघोषित कटौती से नौतनवां कस्बा की पेयजल व्यवस्था भी कभी-कभी चरमरा जा रही है वहीं
ग्रामीण क्षेत्र में अघोषित विद्युत कटौती के कारण भीषण गर्मी में लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं अगर रूटीन की बात करें तो उपरोक्त फीडर का कोई समय निर्धारित नहीं है, यहां का विद्युत व्यवस्था केवल राम भरोसे है जहां हर रोज रात्रि 11 बजे बिजली आती है और सुबह सात बजे से ही गायब हो जाती है तथा दिन में विद्युत सिर्फ आंख मिचौली का खेल खेलती रहती है जहां पूरे दिन मिलाकर लगातार दो घंटे भी बिजली नहीं टिकती। यहां बिजली कब आएगी और कब चली जाएगी कुछ कहा नहीं जा सकता। ऐसे में बिजली चले जाने से मोबाइल सेवा भी पूरी तरह से ध्वस्त हो जाती है साथ ही निजी बैंकिंग सेवाओं में भी लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। वहीं लोगों ने कई बार मांग की है कि विद्युत कटौती का समय निर्धारित किया जाए, लेकिन आज तक उपभोक्ताओं के मांग को पूरा नहीं किया गया। जिसको लेकर लोगों में काफी रोष व्याप्त है। विद्युत कटौती के चलते जनमानस कराह उठा है वहीं बिजली की अव्यवस्था से सबसे ज्यादा बुजुर्ग और बच्चे परेशान हैं, जहां रात्रि में उनकी रात की नींद हराम हो गई है। बिजली की कटौती को लेकर जिला प्रशासन और विद्युत विभाग के उच्चाधिकारियों की अनदेखी चिंता का बिषय है क्योंकि बिजली की किल्लत के साथ-साथ पीने के पानी की भी समस्या उत्पन्न हो जाती है और लोगों को पीने के पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ता है। विद्युत उपभोक्ताओं ने मांग किया है कि शीघ्र ही बिजली कटौती का समय निर्धारित किया जाए जिससे लोगों को इस परेशानी से छुटकारा मिल सके।

नौतनवा से तहसील प्रभारी वेद प्रकाश दुबे की रिपोर्ट।

वेद प्रकाश दुबे

वेद प्रकाश दुबे प्रदेश विज्ञापन प्रभारी (लखनऊ) 7380436987

Related Articles

Back to top button