WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.27 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.28 AM (1)
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.28 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.29 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.30 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.31 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.36 AM (1)
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.36 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.35 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.35 AM
IMG-20220819-WA0003
IMG-20220830-WA0000
देश

खुले में बिक रहे मांस -मछली राहगीरों को हो रही परेशानी

क्रासर:अस्वस्थ बकरे और मुर्गे भी काटे जाते हैं ।

दैनिक महराजगंज न्यूज़

वैश्विक महामारी कोरोंना में जहा लोग साफ सफाई पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है वहीं शासन-प्रशासन के रोक के बावजूद ठूठीबारी क्षेत्र में खुलेआम सार्वजनिक स्थानों पर मांस-मछली कट रहे हैं और धड़ल्ले से बिक रहे हैं। मानकों का खुले आम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।ठूठीबारी में मेन रोड पर सिनेमा हाल के बगल में, ठूठीबारी बस स्टैंड से झारही पुल के बीच में मेन रोड पर,ठूठीबारी निचलौल रोड पर ,करीब तीन दर्जन से अधिक बकरे और मुर्गे की दुकानें सड़क के किनारे खुले में अवैध रूप से संचालित हो रही हैं।किसी भी दुकानदार का किसी प्रकार का लाइसेंस भी नहीं है।और ना ही बकरे का मेडिकल कराया जाता है। हैरत की बात यह है कि ये दुकानदार अस्वस्थ बकरे और मुर्गे भी काट लोगों में बीमारी परोस रहे है। इसे देख मार्ग से गुजरने वाले राहगीर सहम जाते हैं। साफ सफाई के अभाव में तेज दुर्गंध निकलती है। महिलाएं नाक बंद कर दुकानों के रास्ते से गुजरती है। शाकाहारी लोगों का और बुरा हाल हो जाता है। घरों से स्नान कर दर्शन आदि के लिए निकले कि सामने खुले में मांस की बिक्री देखकर मूड आफ हो जाता है। भले ही यह कुछ लोगों के लिए स्वादिष्ट व्यंजन हो, लेकिन अधिकतर लोगों का खुले में मांस का लोथड़ा देख मन विचलित हो जाता है। इतना ही नहीं अमानवीय कार्य से पशु क्रूरता कानून भी बेदम साबित हो रहा है। बिना साफ-सफाई व मानकों के अनुपालन के मांस की कटान से क्षेत्र में गंभीर रोग फैलने की आशंका बनी हुई है। यूं तो खाने-पीने वाली वस्तुओं के साफ सफाई पर ध्यान देने के निर्देश बहुत पहले से जारी किए गए हैं, लेकिन विभागीय लापरवाही के चलते इस पर कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है। यह नजारा पूरे ठूठीबारी क्षेत्र में है। अभी भी खुलेआम बकरे, मुर्गे सार्वजनिक जगहों पर कट रहे हैं। बाजारों में बर्फ लगी व मरी मछलियां भी धड़ल्ले से बिक रही हैं, जिससे सरकार को राजस्व की हानि तो हो ही रहा है, साथ ही आस-पास का वातावरण भी दूषित हो रहा है। दुकानदार अपनी दुकानों के सामने टाट आदि लगाने की भी व्यवस्था नहीं करते। और तो और दुकानदार अपने घर के बच्चों को भी बैठाकर दुकान का संचालन करा रहे हैं। नियम है कि सड़क से दुकान के अंदर की गतिविधि नहीं दिखाई देनी चाहिए। मांस का टुकड़ा भी खुले में न हो, वह कपड़े आदि से ढका हो। औजारों को विसंक्रमित करने के बाद ही जानवरों को काटा जाना चाहिए। ताकि किसी प्रकार का संक्रमण न हो। बावजूद यहां नियमों की अनदेखी की जा रही है। कुछ दुकानदारों ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि हम दुकानदार शासन प्रशासन को बकरे का मीट व मछली फ्री में खिलाते है तो डर किस बात का है।हम जहा चाहे वह काटेंगे।यह दुकानदार अपने मुंह पर मास्क का भी प्रयोग नहीं करते हैं और ना ही शोसाल डिस्टेंसिग का पालन करते हैं।

अभिषेक त्रिपाठी

Founder & Editor Mobile no. 9451307239 Email: Support@dainikmaharajganj.in

Related Articles

Back to top button