WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.27 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.28 AM (1)
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.28 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.29 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.30 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.31 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.36 AM (1)
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.36 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.35 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.35 AM
IMG-20220819-WA0003
IMG-20220830-WA0000
सतना

मंत्रोचार और वैदिक विधि विधान से पूजा अर्चना के साथ बड़ा अखाड़ा मैहर में मनाया गया भगवान परशुराम का प्राकट्य उत्सव

परशुराम जी त्रेता युग (रामायण काल) में एक ब्राह्मण ऋषि के यहाँ जन्मे थे। जो विष्णु के उन्नीसवां अवतार हैं। पौरोणिक वृत्तान्तों के अनुसार उनका जन्म महर्षि भृगु के पुत्र महर्षि जमदग्नि द्वारा सम्पन्न पुत्रेष्टि यज्ञ से प्रसन्न देवराज इन्द्र के वरदान स्वरूप पत्नी रेणुका के गर्भ से वैशाख शुक्ल तृतीया को मध्यप्रदेश के इन्दौर जिला में ग्राम मानपुर के जानापाव पर्वत में हुआ। वे भगवान विष्णु के आवेशावतार हैं। महाभारत और विष्णुपुराण के अनुसार परशुराम जी का मूल नाम राम था किन्तु जब भगवान शिव ने उन्हें अपना परशु नामक अस्त्र प्रदान किया तभी से उनका नाम परशुराम जी हो गया। पितामह भृगु द्वारा सम्पन्न नामकरण संस्कार के अनन्तर राम कहलाए। वे जमदग्नि का पुत्र होने के कारण जामदग्न्य और शिवजी द्वारा प्रदत्त परशु धारण किये रहने के कारण वे परशुराम जी कहलाये। शास्त्र सम्मत तिथि के अनुसार आज भगवान परशुराम का प्राकट्य उत्सव मईहर स्थित बड़ा अखाड़ा में मंत्र उच्चारण वैदिक विधि से पूजा पाठ के साथ मनाया गया इस अवसर पर बड़ा अखाड़ा महंत श्री सीता वल्लभ शरण जी महाराज के साथ दूरदराज से पधारे संत महात्मा स्थानीय विप्र बंधु उपस्थित रहे l महाराज श्री के मार्गदर्शन में आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्य यजमान के रूप में विधायक नारायण त्रिपाठी के पुत्र आनंदकुमार त्रिपाठी, सतीश मिश्र, ब्राह्मण समाज के तहसील अध्यक्ष सुशील तिवारी, रमापति गौतम, सुरेश तिवारी, मंजू महाराज, राकेश पांडे, पांडे, प्रोआरपी तिवारी, संदीप नायक, विकास तिवारी,जे के पांडे, टी आर बाजपेई एवं नगर के अन्य गणमान्य विप्र बंधु मुख्य रूप से उपस्थित रहे l पूजा पाठ के पश्चात महाराज श्री ने भगवान परशुराम के जीवन के संबंध में विविध तथ्य सहित भक्तों को जानकारी प्रदान कीl तत्पश्चात सामूहिक आरती एवं प्रसाद वितरण के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ l

Related Articles

Back to top button