WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.27 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.28 AM (1)
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.28 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.29 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.30 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.31 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.36 AM (1)
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.36 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.35 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.35 AM
IMG-20220819-WA0003
IMG-20220830-WA0000
देश

मिट्टी के दीपक की खरीदारी कर कुम्हारो के चहरे पर लाए मुस्कान

• चाइनीज समान ने छीन लेती कुम्हारो की रोटी।

• आकाश कश्यप
ठूठीबारी महराजगंज :- दीपावली दीपक का त्योहार माना जाता है । दीपक त्योहार के साथ साथ हम सभी को चाइनीज दीपक को वहिष्कार कर मिट्टी के दिये से घर मे उजाला लाए । आये दिन कुम्हारो के इतनी मेहनत क द्वारा बने मिट्टी के दिये बाजार में उतना नही बिक्री नही होती । क्योकी चाइनीज दीपक ने कुम्हारो की रोटी छीनने को तैयार रहती । जिससे कुम्हार की बिक्री नही होने पर कुम्हार के चेहरो पर निराश की भावना दिखने को मिलता है जिससे की कुम्हारो से दिए खरीद कर उन परिवार में खुशी की तरह दिवाली का त्योहार मना सके। जिससे कुम्हार की चहरे पर खुशी दिखे । हम पैसा कुम्हार की जगह चाइनीज के आइटम को देते है । जबकि मेरा दायित्व है कि जो पैसा हम चीन को देते है वह पैसा अपने देश को दे । ताकि हमारे देश की कमाई आर्थिल उन्नति देगी । फिर मेरे कुम्हारो की चेहरो पे खुशी की लहर आ जाएगी ।
अगर देखा जाए तो दीपावली दीपक का त्यौहार है ।
विनोद गुप्ता ने बताया कि हर व्यक्ति को थाम लेनी चाहिए हम चाइनीज के आइटम से बने समानो का प्रयोग नही करेगे ।
जिससे लाभ हमारे देश को मिलेगा ।

चाइनीज आइटम के बढ़ोतरी से दौलत मंद होने को तैयार चीन

दीपावली में हम चाइनीज की सजी आइटमों को देखकर खरीद लेते । लेकिन यह पैसा हम भारत को नही चीन को दे रहे ।
यही कारण है चाईनीज आईटमों की ज्यादा बिक्री से चीन दौलतमंद होने को तैयार है ।

भारत की कुम्हारो की रोटी छीन लेता चीन

हमारे देश के कुम्हारो की रोटी चीन छीन लेता जब कि हम सब को चाइनिज आइटमों को वहिष्कार करनी होगी । ताकि हमारे भारत के कुम्हारो की चेहरो पर मुस्कान की लहर आजाए

रिपोर्ट आकाश कश्यप

अभिषेक त्रिपाठी

Founder & Editor Mobile no. 9451307239 Email: Support@dainikmaharajganj.in

Related Articles

Back to top button