गुजरात

मिट्टी के कुल्हड़ में चाय पीने का अलग ही मजा है।

चूम लेते है होंठ वतन की मिट्टी को, चाय के बहाने।

कुल्हड़ में चाय पिने के फायदे ही फायदे कुल्हड़ मिट्टी से बनाया जाता है जिसके इस्तेमाल से शरीर स्वस्थ रहता है.

कुल्हड़ में चाय पीने से पाचनतंत्र बिगड़ता नहीं है.

कुल्हड़ की चाय से हड्डियां मज़बूत होती हैं.

कुल्हड़ की मिट्टी में कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा करता है

कुल्हड़ की चाय से सेहत और पर्यावरण को होगा लाभ, सदियों पुरानी कला को भी मिलेगा बल-अमित शाह

गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र में कुम्हार समाज की महिलाओं के उत्थान का कार्यक्रम चलाया जा रहा है. जिसके तहत कुछ समय पहले गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र में कुम्हार महिलाओं को मुफ्त इलेक्ट्रिक चाक वितरित किए थे.
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज गुजरात के गांधी नगर रेलवे स्टेशन पर महिला स्वयं सहायता समूह के चाय स्टाल का लोकार्पण किया. महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा संचालित इन चाय स्टालों पर मिट्टी के कुल्हड़ में चाय मिलेगी. गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र में कुम्हार समाज की महिलाओं के उत्थान का कार्यक्रम चलाया जा रहा है. जिसके तहत कुछ समय पहले गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र में कुम्हार महिलाओं को मुफ्त इलेक्ट्रिक चाक वितरित किए थे, आज उसी कड़ी में मिट्टी के बर्तन बनाने वाले महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप (SHG)के आर्थिक उत्थान हेतु गांधीनगर रेलवे स्टेशन पर उनके चाय स्टाल का लोकार्पण किया और उनके साथ चर्चा भी की.
चाय स्टाल का लोकार्पण करते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि “महिला SHG द्वारा गांधीनगर रेलवे स्टेशन पर दिए जाने वाली कुल्हड़ की चाय से न सिर्फ पर्यावरण को लाभ होगा बल्कि सदियों पुरानी इस कला को बल मिलेगा व इससे जुड़े परिवारों को आर्थिक सहायता भी मिलेगी। यहाँ आने वाले यात्रियों से अनुरोध है कि इन मिट्टी के कुल्हड़ में चाय का आनंद अवश्य लें.”
देश में लंबे समय से होटलों, ढाबों और रेस्टोरेंटों में प्लास्टिक के कप में चाय और पेय पदार्थ परोसा जाता है. प्लास्टिक के कप और गिलास आदि सेहत को बहुत नुकसान पहुंचाते हैं. देश के कई राज्यों में सरकारों ने प्लास्टिक की थैलियों और कप पर प्रतिबंध लगा रखा है.
महिला SHG द्वारा गांधीनगर रेलवे स्टेशन पर दिए जाने वाली कुल्हड़ की चाय से न सिर्फ पर्यावरण को लाभ होगा बल्कि सदियों पुरानी इस कला को बल मिलेगा व इससे जुड़े परिवारों को आर्थिक सहायता भी मिलेगी। यहाँ आने वाले यात्रियों से अनुरोध है कि इन मिट्टी के कुल्हड़ में चाय का आनंद अवश्य लें।

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!