महराजगंज

कलेक्ट्रेट‌ सभागार में जिला बाल संरक्षण तथा किशोर न्याय वार्ड की बैठक जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुई सम्पन्न।

महराजगंज,11 सितंबर 2021

जिला पंचायत अध्यक्ष रविकान्त पटेल एवं जिलाधिकारी डॉ. उज्ज्वल कुमार की अध्यक्षता में जिला बाल संरक्षण समिति, महराजगंज की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गयी। बैठक के प्रारम्भ में जिला प्रोबेशन अधिकारी द्वारा बैठक का संचालन करते हुए किशोर न्याय बोर्ड, बाल कल्याण समिति, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, बाल विवाह रोक थाम एवं संयुक्त कार्ययोजना-एक युद्ध नशे के विरूद्ध (एन0सी0पी0आर0) एवं डी0सी0पी0यू0 से सम्बन्धित मुद्दों एवं उनमें होने वाली समस्याओं के बारे में विस्तार से बताया गया। बैठक में श्री नीरज शर्मा, मण्डलीय बाल सुरक्षा सलाहकार, यूनीसेफ/आर0एम0एल0एन0एल0यू0 के द्वारा बताया गया कि किशोर न्याय बोर्ड द्वारा जुलाई, 2021 से सितम्बर, 2021 में नवीन 24 मामले दर्ज हुए एवं 51 मामलों का निस्तारण किया गया। किशोर न्याय अधिनियम के तहत संचालित बाल कल्याण समिति के समक्ष जुलाई 2021 से सितम्बर, 2021 से कुल 172 बालक/बालिकाओं को प्रस्तुत किया गया जिनको देख-रेख एवं संरक्षण की जरूरत थी, जिसमें 15 बच्चों को बाल गृह में संरक्षित कराया गया है एवं 157 बच्चों को उनके माता-पिता एवं संरक्षक को सुपूर्द किया गया। श्री बलवन्त भारती, मा0 प्रधान मजिस्ट्रेट द्वारा बाताया गया कि साधारण अपराध के मामलों में पुलिस द्वारा एफ0आई0आर0 दर्ज न किया जाय एवं विधि का उल्लंघन करने वाले बालकों को किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष सामाजिक पृष्ठभूमि रिपोर्ट भर कर प्रस्तुत किया जाय। श्री श्याम सिंह, मा0 अध्यक्ष, बाल कल्याण समिति द्वारा बताया गया कि प्रत्येक पाॅक्सो के मामलों में पुलिस द्वारा शत-प्रतिशत सूचना बाल कल्याण समिति को दी जाय। साथ ही साथ उन्होंने बालिकाओं के अस्थायी आश्रय एवं परामर्श सेवा हेतु वन स्टाप सेन्टर के अनिवार्य रूप से संचालित करने पर जोर दिया। श्री नीरज शर्मा द्वारा बताया गया कि अधिकतर पाॅक्सो के मामले ऐसे हैं, जहां किशोर/किशोरी अपनी मर्जी से घर छोड़कर चले जा रहे हैं और शारिरिक सम्बन्ध बनाने पर पाॅक्सो एक्ट के प्रक्रिया में आ जाते हैं। इस संदर्भ में पाॅक्सो एक्ट विषय पर लोगों को अधिक से अधिक जागरूक करने की आवश्यकता है। जिला प्रोबेशन अधिकारी द्वारा बताया गया कि मा0 उच्च न्यायालय द्वारा निर्देश दिया गया है बाल कल्याण समिति द्वारा पाॅक्सो के मामलों में सपोर्ट-पर्सन नामित करना, जिला विधिक प्राधिकरण से समन्वय कर विधिक सहायता प्रदान करना, जमानत की निर्धारित तिथि की सूचना पूर्व में पीड़िता एवं पीड़िता के परिवार को देना तथा उनकों विधिक सहायत करते हुए जरूरी कार्यवाही करना है।
जिलाधिकारी द्वारा बैठक की गतिविधियों पर बाल विवाह रोकथाम एवं पाॅक्सो के विषय पर निर्देशित किया गया कि जिला/तहसील स्तरीय स्कूल, विद्यालय एवं ग्राम प्रधानों से वार्ता कर जिला विद्यालय निरीक्षक/जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी/जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी से समन्वय स्थापित करते हुए 01 माह की कार्ययोजना तैयार कर उनके साथ जागरूकता/प्रशिक्षण कार्यक्रम करें। जिलाधिकारी ने कहा कि पुलिस विभाग विधि का उल्लंघन करने वाले बालकों के प्रत्येक मामले में किशोर न्याय अधिनियम, 2015 के अन्तर्गत सामाजिक पृष्ठभूमि रिपोर्ट भर कर मा0 किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत करें तथा साधारण अपराध के मामलों में एफ.आई.आर. दर्ज ना करें। जिलाधिकारी द्वारा बाल कल्याण समिति को निर्देशित किया गया कि किशोर न्याय अधिनियम, 2015, पाॅक्सो एक्ट, 2012 तथा मा0 उच्च न्यायालय द्वारा दिये गये निर्देशों का शत-प्रतिशत पालन करें तथा जिला प्रोबेशन अधिकारी को निर्देशित किया गया कि वन स्टाप सेन्टर का निर्माण 01 माह के अन्दर कराते हुए, वर्तमान में वन स्टाप सेन्टर के संचालन हेतु जिला अस्पताल में 02 कक्ष मुख्य चिकित्सा अधिकारी से समन्वय स्थापित कर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने जिला अबकारी अधिकारी/जिला औषधि नियंत्रक अधिकारी/डी0आई0ओ0एस0/बी0एस0ए0/पुलिस विभाग को निर्देशित किया गया कि एन.सी.पी.सी.आर. द्वारा प्रस्तुत कार्ययोजना का शत-प्रतिशत पालन करायें तथा दवा की दूकानों पर सी.सी.टी.वी. कैमरा लगवाना सुनिश्चित करें। बैठक में मा0 प्रधान मजिस्ट्रेट/सदस्य गण किशोर न्याय बोर्ड, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0), अध्यक्ष/सदस्य गण, बाल कल्याण समिति, जिला विद्यालय निरीक्षक, प्रतिनिधि, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, श्रम प्रवर्तन अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, प्रतिनिधि, पुलिस अधीक्षक, जिला अबकारी अधिकारी, जिला औषधी नियंत्रक अधिकारी, महिला कल्याण अधिकारी, म0श0के0, विधि सह परिवीक्षा अधिकारी, डी0सी0पी0यू0, एस0जे0पी0यू0,चाइल्ड लाइन, गैर सरकारी संगठन, मण्डलीय बाल सुरक्षा सलाहकार, यूनीसेफ/आर0एम0एल0एन0 एल0यू0, डी0सी0पी0यू0, जिला प्रोबेशन कार्यालय के कार्मिक उपस्थित रहे। अन्त में जिलाधिकारी महोदय द्वारा सधन्यवाद देते हुए बैठक का समापन किया गया।

Share this:

आई. एस. पाठक (प्रखर)

Chief Sub Editor Dainik Maharajganj News Mob: 9935231212

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!