महराजगंज

सबकी मूरादें पूरी करती हैं आदि शक्ति माँ देउरवा वाली : सामवेद पति त्रिपाठी

महराजगंज : यु पी के महराजगंज के सदर तहसील क्षेत्र अंतर्गत जीएम मार्ग पर स्थित धर्मपुर चौराहे से पांच किलोमीटर पश्चिम स्थित लक्ष्मीपुर देउरवा में आदि शक्ति जगत जननी मां देउरवा वाली का प्रसिद्ध मंदिर है।
जहाँ लोगों का हर मनोकामना पूरी होती है जो भक्त सच्चे मन से मां से मन्नत मांगता है उसकी मुरादें मां देउरवा वाली अवश्य पूरी करती हैं।
क्षेत्र के लोगों का कहना है कि प्राचीनकाल में इस स्थान पर एक घना जंगल हुआ करता था। जो झाड़-झंखाड़ से भरा था। उसी की साफ सफाई के समय देउरवा के मणि वंशजों ने जमीन के अंदर से सात पिंडियां पाया था और उसे एक छोटे से मंदिर में स्थापित कर पूजा-अर्चना शुरू कर दिया। पूजा-अर्चना शुरु होते ही इस गांव के साथ-साथ अगल-बगल के गांव में सभी लोग सुख समृद्धि से अपना जीवन यापन करने लगे। लोग कहते हैं कि मां विभिन्न रूपों में अगल बगल के गांवों विचरण करती थी। लोगों में मां के आस्था को देख मुगल शासक बहुत क्रोधित रहा करता था।
एक बार मुगल शासक ने आकर जब वहां अदिशक्ति मां की महिमा को देखा दो भयभित हो गया । उसके उपरांत एक बार चोरों ने भी मां की पिंडियां चुराकर ले जा रहे थे तो उसमें से एक चोर अभी लगभग दो कीमी दूरी पर ही पहुचा तो वहीं पर वह अंधा हो गया तथा वहीं मुख के रास्ते खून फेंककर मर गया। लोगों ने उस स्थान पर जहां पिंडी गिरी थी वहां मंदिर बनाकर भुवरी माई देवी के नाम से पूजा-अर्चना शुरू कर दिया।
और दूसरा चोर जंगल की तरफ लेकर भागा वो भी लगभग सात कीमी की दूरी पर जाते जाते अंधा होकर गिरा और वहीं पर उसकी मौत हो गयी जो आज अंधया देवी के नाम प्रसिद्ध हैं

मूरादें पूरी देख दूर दूर से लोग आते हैं मिन्नते मांगने

यहां गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर, सिद्धार्थनगर, नेपाल, मदनपुर आदि स्थानों से लोग नवरात्र के अवसर पर मां का दर्शन के लिए आते है।और जो भी मिन्नतें मांगते हैं उनकी मूरादें जरूर पूरी होती हैं।

जयप्रकाश वर्मा
प्रभारी दैनिक महराजगंज न्यूज

Share this:

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!