अयोध्या

अयोध्या में पीएनबी बैंक अफसर श्रद्धा ने की आत्महत्या

लखनऊ…..

लखनऊ के IPS अधिकारी समेत तीन पुलिसकर्मियों पर श्रद्धा ने आरोप लगाया है ।की इन्हीं लोगों से परेशान होकर में आत्महत्या कर रही हूं ।
अयोध्या में शनिवार देर रात पीएनबी अफसर रैंक की युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है ।
पुलिस को कमरे से सुसाइड नोट मिला है।
इसमें IPS अधिकारी, एक पुलिस कर्मी सहित तीन पर प्रताड़ित करने की बात कही गई है।
सुसाइड नोट को पुलिस ने सुरक्षित रखा है ।
लखनऊ के राजाजीपुरम की रहने वाली महिला अयोध्याहां शहर के खवासपुरा मोहल्ले में किराए का मकान लेकर रहती थी।
राजाजीपुरम निवासी राजकुमार गुप्ता की पुत्री श्रद्धा गुप्ता ( 30) पंजाब नेशनल बैंक क्षेत्रीय कार्यालय अयोध्या में स्केल वन अफसर थीं।
जानकारी पर एसएसपी शैलेश पांडेय पहुंचे,कमरा अंदर से बंद था।
खिड़की तोड़कर उस लाश को बाहर निकाला गया।
परिजन इस मामले में सीएम से न्याय की गुहार लगाई है।

श्रद्धा के परिवार से जुड़े दीप ने बताया कि शुक्रवार की शाम से ही घरवाले श्रद्धा को फोन कर रहे थे,
लेकिन श्रद्धा की ओर से फोन रिसीव नहीं हुआ।
शनिवार सुबह भी फोन किया गया तो कोई जवाब न मिलने पर मकान मालिक को सूचना दी गई।
मकान मालिक ने श्रद्धा के कमरे में लगी खिड़की से देखा तो अंदर उसका शव फंदे से लटक रहा था।
उनकी सूचना पर मृतका के स्वजन यहां पहुंचे।
एसएसपी शैलेश पांडेय, एसपी सिटी विजयपाल सिंह, एएसपी पलाश बंसल भी मौके पर पहुंचे और खिड़की तोड़कर श्रद्धा के कमरे में दखिल हुई पुलिस ने शव को कब्जे में लिया।
श्रद्धा 2015 से बैंक में कार्यरत थी
श्रद्धा बहुत ही जिंदादिल इंसान थी।
अपनी मेधा के बल पर उसने कम उम्र में स्केल वन अफसर की नौकरी प्राप्त की।
विभागीय सह कर्मियों की मानें तो श्रद्धा 2015 से बैंक में कार्यरत थी।
बतौर हेड क्लर्क उसने अपनी नौकरी की शुरुआत की थी और विभागीय परीक्षाओं को उत्तीर्ण कर वह अधिकारी के पद तक पहुंची थीं।
गुरुवार को क्षेत्रीय कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुई थी।
शुक्रवार को वह ड्यूटी पर भी नहीं आई थी।
श्रद्धा ने अपने सुसाइड नोट में लिखा कि मेरे सुसाइड की वजह अशीष तिवारी, विवेक गुप्ता और अनिल रावत हैं।
जिस आईपीएस पर यह इल्जाम लगा है वोआयोध्या
के एसएसपी रह चुके है ।
लखनऊ की रहने वाली पीएनबी बैंक की मृतक लेडी अफसर श्रद्धा गुप्ता 5 सालों में अयोध्या में कार्यरत थी।
सुसाइड नोट में IPS आशीष तिवारी के साथ पुलिस विभाग अयोध्या में कार्यरत अनिल रावत व युवक विवेक गुप्ता का भी नाम लिखा है।
एसएसपी बोले जिन जिन लोगो का नाम है ।
उसकी जांच कराई जाएगी। उसमें कुछ नाम है, वह नाम कैसे आए हैं। उसकी जांच की जा रही है।
जो तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट हो सकेगा।

मुकुट किशोर शुक्ला
ब्यूरो चीफ
दैनिक महाराज गंज न्यूज़
लखनऊ

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!