देश

सबसे बड़ा चन्द्रग्रहण 580 साल बाद

नासा दुनिया की सबसे बड़ी अंतरिक्ष एजेंसी मानी जाती है, जो मौसम के साथ अंतरिक्ष में मौजूद ग्रह से जुड़ी खास जानकारियां भी दुनिया के सामने रखती है। हम आपको बता दें कि पूरी दुनिया में अब तक कई आंशिक चंद्रग्रहण हो चुके हैं जिनको कई लोगों ने प्रत्यक्ष रूप से अपनी आंखों से भी देखा है। अभी हाल ही में नासा ने घोषणा की है कि इतिहास का सबसे लंबा चंद्रग्रहण साल 2021 के नवंबर माह में होने जा रहा है। जी हां जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि नासा ने बताया कि इतिहास का सबसे लंबा चंद्रग्रहण 18 से 19 नवंबर को दिखाई देगा, जो 580 सालों के बाद हो रहा है। आपको जानकर हैरानी होगी कि यह चंद्रग्रहण करीब 3 घंटे 28 मिनट और 23 सेकेंड लंबा होगा।

चंद्रमा का आंशिक ग्रहण 19 नवंबर, 2021 (28 कार्तिक, 1943 शक संवत) को होगा। भारत से, चंद्रोदय के ठीक बाद, ग्रहण के आंशिक चरण की समाप्ति अरुणाचल प्रदेश और असम के उत्तर पूर्वी भागों से बहुत कम समय के लिए दिखाई देगी।
सदी का सबसे बड़ा चंद्र ग्रहण- 19 नवंबर, को लगने वाला चंद्र ग्रहण सदी का सबसे बड़ा चंद्र ग्रहण माना जा रहा है. इसकी अवधि अधिक होने के कारण इस सदी का सबसे बड़ा चंद्र ग्रहण कहा जा रहा है.
कार्तिक पूर्णिमा पर चंद्र ग्रहण- पूर्णिमा की तिथि पर चंद्र ग्रहण की स्थिति बन रही है. इस पूर्णिमा को कार्तिक पूर्णिमा भी कहा जाता है. हिंद धर्म में कार्तिक पूर्णिमा का विशेष महत्व बताया गया है.

सूतक काल- 19 नवंबर को लगने वाले चंद्र ग्रहण के दौरान सूतक नियमों का पालन नहीं किया जाएगा. इस ग्रहण को आंशिक ग्रहण कहा जा रहा है. पूर्ण ग्रहण की स्थिति में ही सूतक काल प्रभावी माना जाता है.

2021 में कितने चंद्र ग्रहण- वर्ष 2021 में दो चंद्र ग्रहण का योग बना था. 19 नवंबर को साल का दूसरा और अंतिम चंद्र ग्रहण लग रहा है.

भारत में कहा दिखाई देगा- 19 नवंबर को चंद्र ग्रहण भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम और अरुणाचल प्रदेश के कुछ हिस्सो में दिखाई देगा.

विदेशों में कहा दिखाई देगा- अमेरिका, उत्तरी यूरोप, पूर्वी एशिया, ऑस्ट्रेलिया और प्रशांत महासागर क्षेत्र में दिखाई पड़ेगा.

चंद्र ग्रहण कैसा लगता है- विज्ञान के अनुसार चंद्र ग्रहण की स्थिति तब बनती है जब पूर्णिमा की तिथि को सूर्य और चंद्रमा की मध्य पृथ्वी आ जाती है. इसके चलते उसकी छाया चंद्रमा पर पड़ने लगती है, जिससे चंद्रमा का छाया वाले भाग पर अंधेरा छा जाता है. इस स्थिति में जब चांद को देखते हैं तो वह भाग काला दिखाई पड़ता है. इस स्थिति को चंद्र ग्रहण कहते हैं.

Share this:

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!