अन्य खबरदेश

पनियरा मुजरी मार्ग पर सव रख कर किया जाम एएसपी के समझाने पर माने ग्रामीण

Email

WhatsApp-Image-2020-09-23-at-4.27.16-PM-1-3.jpeg WhatsApp-Image-2020-09-23-at-4.27.16-PM-2.jpeg WhatsApp-Image-2020-09-23-at-4.07.40-PM-1.jpeg WhatsApp-Image-2020-09-23-at-4.07.39-PM-0.jpeg

रिपोर्ट- इब्राहिम अली (पनियरा )
दैनिक महराजगंज

पनियरा(महराजगंज)पनियरा थानाक्षेत्र के कुआंचाप गांव के कौवाठोड़ में पुरानी रंजिश को लेकर पखवारे भर पहले हुई मारपीट के मामले में चौदह वर्षीय एक लड़की की मौत हो गई। इस मामले में पुलिस की कार्रवाई से खफा परिजन व ग्रामीणों ने लड़की के शव को पनियरा-मुजुरी मार्ग पर रख चक्का जाम कर दिया। घटना की जानकारी मिलते ही मुजुरी चौकी व पनियरा थाने की पुलिस पहुंच गई। ग्रामीणों का आक्रोश थमता नहीं देख एएसपी निवेश कटियार, एसडीएम सदर साईं तेजा सिलम व सीओ सदर मौके पर पहुंचे। परिजनों को समझा-बुझाकर कार्रवाई का आश्वासन दिया। उसके बाद चक्का जाम समाप्त हुआ। पनियरा-मुजुरी मार्ग का आवागमन बहाल हुआ।
कौवाठोड़ में सात सितंबर को दो पट्टीदारों के बीच रंजिश को लेकर मारपीट हुई। जिसमें एक परिवार के कई लोग घायल हुए थे। मंगलवार की शाम को घायल परिवार की चौदह वर्षीय अराधना नाम की एक लड़की की तबीयत बिगड़ गई। परिजन उसे इलाज के लिए पनियरा सीएचसी ले गए। डॉक्टर ने हालत गंभीर देख जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल ले जाते समय लड़की की मौत हो गई। बुधवार को परिजनों ने शव को पनियरा-मुजुरी मार्ग पर रख कर चक्का जाम कर दिया।पनियरा पुलिस का कहना है कि मारपीट के मामले में जो तहरीर मिली थी। उसके आधार पर कार्रवाई की गई थी। उस तहरीर में अराधना के घायल होने की बात नहीं थी। एसपी प्रदीप कुमार गुप्ता के निर्देश पर मौके पर पहुंचे एएसपी ने परिजनों से बातचीत किया। परिजनों ने एक सिपाही पर गंभीर आरोप लगाया। एएसपी ने उसके खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया। उसके बाद चक्का जाम समाप्त हुआ। पुलिस ने लड़की के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के पिता रमाशंकर का आरोप है कि 7 सितंबर को शाम के करीब 7 बजे के करीब भैंस की झाड़ फूक को लेकर पट्टीदारों ने हमारी पत्नी नंदनी(40), पुत्री अंजू(18) व आराधना(13) को लाठी-डंडे से पीट कर घायल कर दिया था। मंगलवार की रात्रि में अचानक आराधना के पेट में दर्द हुआ परिजन आनन फानन में पीएचसी पनियरा ले गए। स्थिति नाजुक देखकर चिकित्सकों ने बालिका आराधना को जिला अस्पताल रेफर किया।रास्ते में ले जाते समय ही आराधना की मौत हो गई।एसपी प्रदीप गुप्ता का कहना है कि कुआंचाप गांव के मामले में चार आरोपितों के खिलाफ एनसीआर कायम किया गया था। धारा 151 के तहत गिरफ्तार किया गया था। ग्रामीणों ने यह कहते हुए जाम लगाया था कि पुलिस कार्रवाई नहीं की थी। अधिकारियों को भेज जाम हटवा दिया गया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। एफआईआर ले ली गई है। पीएम रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

Share this:

Abhishek kumar Tripathi

Founder & Editor Mobile no. 9451307239

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!