दैनिक महाराजगंज न्यूज़ पोर्टल आप सभी देशवाशियो से निवेदन करता है , कोरोना महामारी से बचने के लिए सोशल डिस्टेंस बनाये रखे और लॉकडाउन का पालन करें !
IFRAME SYNC
दैनिक महाराजगंज

विमारी को दावत देता बाढ़ के बाद सड़न से उत्पन्न दुर्गंध

पुरंदरपुर थाना क्षेत्र के मझार क्षेत्र में हो कर गुजरने वाली रोहिन नदी का जलस्तर काफी नीचे आ चुका है। लेकिन बाढ़ का पानी जिन गांवों के गड्ढों में जमा है। अब उससे बदबू आने लगा है। जिसके कारण अब संक्रामक बीमारियों ने भी अपना पांव पसारना शुरू कर दिया हैं। और कुछ लोग संक्रामक बीमारी से भी ग्रस्त हैं। वहीं कुछ ग्रामीणों के पशु भी बीमार चल रहे हैं। पशुओं में खुरपका और मुंहपका रोग की शिकायत भी मिल रही है। लोगों ने कहा कि दवा होने के बाद ही पशु ठीक नहीं हो रहे हैं। ग्राम पंचायत ख़ालिकगढ़ के ग्रामीणो ने बताया कि गांव में बीते4 से 5 दिनों से पानी जमा है। निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है। पानी से दुर्गंध आ रहा है। जिससे गांव में संक्रामक बीमारी फैल रही है। आज तक इस गांव में न तो डॉक्टरों की कोई टीम आई और ना ही किसी प्रकार की दवाई का छिड़काव किया गया। जिसे लेकर ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। संक्रमण के चपेट में आए ग्राम पंचायत रानीपुर टोला मछरीहवा के राजेशभगत, बाबुराम, साधुसरन, रामप्रसाद, मेवालाल, बाबुराम, रामलखन, बिजली, रामअचल, अर्जुन, महावीर, आदि लोग बीमार चल रहे हैं।गांवों से बाढ़ का पानी कम हो रहा है। लेकिन जहां से पानी निकल रहा है। वहां कीचड़, सड़न और बदबू से लोगों का जीना मुहाल हो गया है। अब भी ग्रामीण क्षेत्र में दर्जनों गांव पानी से घिरे हुए हैं। और फसले जलमग्न होकर सड़ रही है। लोगो ने बताया कि पानी कम होने से लोगों को राहत तो मिली है। लेकिन दुर्गंध की वजह से संक्रामक रोगों का खतरा बढ़ गया है। क्षेत्र के रघुनाथपुर, कोदईपुर गिदहा, करीमदादपुर, अमहवा, कुड़िहवा, रजापुर, मठिया ईदू, बसाहवा, करम टिकर, कोइरी टोला, गौहरपुर, रानीपुर, दनदनाहवा, मछरीअहवा, नौडिहवा, आराजी सुबाइन, मंगरहिया, जगपुर, आदि गांवों के लोगों ने साफ सफाई और चिकित्सा सुविधा की मांग की है। हमारे संवादाता के अनुसार क्षेत्र के तटवर्ती गांव, ख़ालिकगढ़, सोनराडीह, कुड़िया, आदि में पानी बहुत कम हो गया है। गांवों में पानी निकलने के बाद सड़न और बदबू से लोग परेशान है। संक्रामक रोगों से बचाव के लिए उपाय करने की मांग की है। बाढ़ का पानी गांवों से निकलने के बाद अब वहां कीचड़, सीलन, सड़न तथा बदबू की वजह से संक्रामक रोगों का प्रसार होने लगा है। तमाम गांवों में लोग बुखार, दर्द, उल्टी, डायरिया, पेट दर्द, सिरदर्द आदि संक्रामक रोगों से ग्रसित है। स्वास्थ्य विभाग इन गांवों में दवा वितरण तथा रोगों पर नियंत्रण करने में सफल नहीं हो पा रहा है। लोगों ने गांवों में अभियान चला कर साफ सफाई के साथ ही दवाओं के छिड़काव और वितरण की मांग किया। 

इस संबंध में उपजिलाधिकारी नौतनवा से दूरभाष के माध्यम से जानकारी लेने चाहा तो फोन को नेटवर्क कवरेज क्षेत्र से बाहर पाया गया ।

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Open chat
Hello
how can i help you.