IMG-20220126-WA0033
IMG-20220126-WA0032
IMG-20220126-WA0031
IMG-20220126-WA0030
IMG-20220125-WA0094
IMG-20220125-WA0095
IMG-20220125-WA0092
IMG-20220125-WA0102
IMG-20220125-WA0107
IMG-20220125-WA0119
IMG-20220125-WA0118
IMG-20220126-WA0154
IMG-20220126-WA0155
IMG-20220126-WA0156
IMG-20220126-WA0199
IMG-20220126-WA0174
IMG-20220126-WA0234
IMG-20220126-WA0235
IMG-20220220-WA0030
IMG-20220220-WA0031
IMG-20220220-WA0032
IMG-20220220-WA0024
IMG-20220220-WA0020
IMG-20220220-WA0018
IMG-20220220-WA0025
IMG-20220220-WA0019
IMG-20220220-WA0027
IMG-20220220-WA0029
IMG-20220220-WA0021
IMG-20220220-WA0026
IMG-20220220-WA0022
IMG-20220220-WA0023
IMG-20220220-WA0016
IMG-20220220-WA0008
IMG-20220220-WA0007
IMG-20220220-WA0017
IMG-20220220-WA0011
IMG-20220220-WA0014
IMG-20220220-WA0002
IMG-20220220-WA0003
IMG-20220220-WA0004
IMG-20220220-WA0006
IMG-20220220-WA0031
IMG-20220220-WA0009
IMG-20220220-WA0010
IMG-20220220-WA0013
IMG-20220220-WA0012
IMG-20220220-WA0027
IMG-20220320-WA0041
previous arrow
next arrow
देश

भारत नेपाल सीमा सील से आवगमन बाधित , व्यापारियों में बड़ी चिन्ता

ठूठीबारी महराजगंज :- कोरोना को लेकर इंडो नेपाल सीमा सील की अवधि 16 नवम्बर तक बढ़ने से व्यापारीयो में काफी मायूसी दिख रही है । जो की भारत नेपाल सीमा सील से काफी व्यापारियों व मजदूर चिंतित है । जो बाजार की रौनक काफी सुनी कर रखा है । जिसमें व्यापारियों की बढ़ती परेशानी से लोगो मे उबाल है । जो एक समय ऐसे थे कि भारी संख्या में लोग भारत नेपाल सिमा से गुजरते थे । अब कोरोना संक्रमण ने आज सभी की राहों को सुनी कर दिया । जो दुकानदार व्यापारियो की काफी असर बिक्री पर दिखने को मिला । जो दुकानदारों के लिए काफी मुश्किल खड़ा कर दिया है । जो कि बाजार में चर्चा का विषय बना हुआ है कि आए दिन सीमा सील अवधि को 16 नवम्बर तक बढ़ा दिया गया है । जिससे कि बढ़ते व्यापारियों पर काफी दिक्कत पैदा कर रखा है । जो कि काफी दिनों से बढ़ती चली आ रही सीमा सील की कहर ने व्यापारियों को चिंता कर डाला है । बाजारों की रौनक को छीन रखा है । जो कि बाजार की राहे काफी सुनी दिखने लगी है । जो इसका असर भारत नेपाल सीमा क्षेत्र में बसे व्यापारियों पर काफी पड़ रहा है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button