IMG-20220126-WA0033
IMG-20220126-WA0032
IMG-20220126-WA0031
IMG-20220126-WA0030
IMG-20220125-WA0094
IMG-20220125-WA0095
IMG-20220125-WA0092
IMG-20220125-WA0102
IMG-20220125-WA0107
IMG-20220125-WA0119
IMG-20220125-WA0118
IMG-20220126-WA0154
IMG-20220126-WA0155
IMG-20220126-WA0156
IMG-20220126-WA0199
IMG-20220126-WA0174
IMG-20220126-WA0234
IMG-20220126-WA0235
IMG-20220220-WA0030
IMG-20220220-WA0031
IMG-20220220-WA0032
IMG-20220220-WA0024
IMG-20220220-WA0020
IMG-20220220-WA0018
IMG-20220220-WA0025
IMG-20220220-WA0019
IMG-20220220-WA0027
IMG-20220220-WA0029
IMG-20220220-WA0021
IMG-20220220-WA0026
IMG-20220220-WA0022
IMG-20220220-WA0023
IMG-20220220-WA0016
IMG-20220220-WA0008
IMG-20220220-WA0007
IMG-20220220-WA0017
IMG-20220220-WA0011
IMG-20220220-WA0014
IMG-20220220-WA0002
IMG-20220220-WA0003
IMG-20220220-WA0004
IMG-20220220-WA0006
IMG-20220220-WA0031
IMG-20220220-WA0009
IMG-20220220-WA0010
IMG-20220220-WA0013
IMG-20220220-WA0012
IMG-20220220-WA0027
IMG-20220320-WA0041
previous arrow
next arrow
देश

आस्था का केन्द्र है ठूठीबारी प्राचीन काली माता व सम्मय मईया की मन्दिर

ठूठीबारी महराजगंज :- ठूठीबारी प्राचीन काली माता व सम्मय मईया की मन्दिर एक आस्था का केन्द्र है । जो कि नवरात्र के दौरान शोशल डिस्टेंस को ध्यान में रख कर प्राचीन काली माता व सम्मय मईया की मंदिर मे आए भक्त माथा टेकते व पुजा अर्चना कर माता रानी से सच्चे मन से मन्नत को मांगते है । माता अपनी भक्तो की मुरादे को पूरा करती है । मां के दरबार मे आए हुए भक्तो ने मां की जयकार लगाकर सभी को भक्तमय कर दिया । माता के मंदिरो में श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र है । बताते चले कि माँ की मन्दिर बहुत प्राचीन माना जाता है । भक्तो का कहना है कि मां के दरबार मे आए हुए भक्त कभी निराश नही होते । माता जी का प्राचीन मंदिर में भक्तो की आस्था उमड़ पड़ती है । सच्चे मन से मांगे गई मन्नत को माता पूरा करती है । वही भजन गायक संजय पांडेय पुजारी ने बताया कि प्राचीन काली माता की मंदिर आस्था का केन्द्र है । मांगे गए भक्तो की मन्नत मईया पूरा करती है ।

रिपोर्ट – आकाश कश्यप

अभिषेक त्रिपाठी

Founder & Editor Mobile no. 9451307239 Email: Support@dainikmaharajganj.in

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button