लखनऊ

कोविड-19 प्रबंधन हेतु गठित टीम-09 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिशा-निर्देश

● उत्तर प्रदेश के सात जनपदों (जनपद अलीगढ़, चित्रकूट, हाथरस, कसगंज, महोबा, शामली और श्रावस्ती) में अब कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है। यह जनपद आज कोविड संक्रमण से मुक्त हैं। यह स्थिति संतोषजनक है। विगत दिवस किसी भी जिले ने दोहरे अंक में नए केस की पुष्टि नहीं हुई। 47 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया, जबकि 28 जनपदों में इकाई अंक में मरीज पाए गए। यह स्थिति बताती है कि प्रदेश में हर नए दिन के साथ कोविड महामारी पर नियंत्रण की स्थिति और बेहतर होती जा रही है। ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति के अनुरूप सभी जरूरी प्रबंध किए जाएं।

● कोरोना महामारी की नियंत्रित स्थिति के बीच हमें अतिरिक्त सतर्कता बरतनी होगी। ऐसे में 03 फीसदी पॉजिटिविटी दर से अधिक वाले राज्यों से उत्तर प्रदेश आने वाले लोगों के लिए नेगेटिव आरटीपीसीआर की रिपोर्ट अनिवार्य की जानी चाहिए। यह रिपोर्ट चार दिनों से अधिक पुरानी न हो। ऐसे राज्यों से उत्तर प्रदेश आने वाले लोग अपना कोविड परीक्षण कराकर ही यात्रा प्रारंभ करें। जो लोग टीकाकरण की दोनों खुराक प्राप्त कर चुके हों, उन्हें छूट दी जा सकती है। सड़क/वायु/रेल मार्गों के अलावा निजी साधनों से आ रहे लोगों के लिए भी यह नियम लागू किए जाएं। हाई कोविड पॉजिटिविटी दर वाले राज्यों से उत्तर प्रदेश आने वाले लोगों की गहन कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और टेस्टिंग की जाए। प्रदेश आगमन पर इनके एंटीजन टेस्ट और थर्मल स्कैनिंग जरूर किए जाएं। इस संबंध में दिशा-निर्देश आज ही जारी कर दिए जाएं।

● ट्रेसिंग, टेस्टिंग और त्वरित ट्रीटमेंट के मंत्र से अच्छे परिणाम मिल रहे हैं। विगत 24 घंटे में 02 लाख 54 हजार 771 कोविड सैम्पल की जांच की गई और 56 नए मरीजों की पुष्टि हुई, जबकि 69 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। इस अवधि में पॉजिटिविटी दर 0.02% रही। प्रदेश में कोरोना की रिकवरी दर 98.6% है। अब तक 16 लाख 83 हजार से अधिक प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं।

● प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य सुचारु रूप से चल रहा है। अब तक उत्तर प्रदेश में 04 करोड़ 03 लाख 54 हजार से अधिक कोविड वैक्सीन लगाए जा चुके हैं। यह किसी एक राज्य द्वारा किया गया सर्वाधिक वैक्सीनेशन है। कोविड वैक्सीनेशन को और तेज करने की आवश्यकता है। टीकाकरण के लिए ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया को प्रोत्साहित किया जाए।

● ब्लॉक प्रमुखों के शांतिपूर्ण निर्वाचन के उपरांत अब सौहार्दपूर्ण माहौल में शपथ ग्रहण के लिए प्रबंध किए जाएं। ग्राम्य विकास एवं पंचायती राज तथा गृह विभाग परस्पर समन्वय स्थापित करते हुए शपथ ग्रहण के लिए व्यवस्था हो। कोविड प्रोटोकॉल का पूरा ध्यान रखा जाए।

● राज्य सरकार सभी नागरिकों की आस्था का पूरा सम्मान करती है। श्रावण मास की पावन कांवड़ यात्रा के संबंध में अधिकारियों से वार्ता के दौरान कांवड़ संघों ने कोरोना को देखते हुए इस वर्ष यात्रा स्थगित रखने का निर्णय लिया है। आस्था के मुद्दे पर समाज स्वयं ही निर्णय ले, यही उचित है। कांवड़ संघों की भावना का सम्मान होना चाहिए।

● कोविड महामारी के दौरान स्वास्थ्य एवं चिकित्सा कार्यों में सेवाएं देने वाले तकनीशियनों की सेवा भावना सराहनीय है। राज्य सरकार द्वारा सीएचसी/पीएचसी आदि स्थानों पर हेल्थ एटीएम की स्थापना कराई जा रही है। इस संबंध में इन तकनीशियनों को प्रशिक्षण देकर इनकी सेवाएं ली जा सकती हैं।

Share this:

आई. एस. पाठक (प्रखर)

Chief Sub Editor Dainik Maharajganj News Mob: 9935231212

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!