WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.27 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.28 AM (1)
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.28 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.29 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.30 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.31 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.36 AM (1)
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.36 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.35 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.35 AM
IMG-20220819-WA0003
IMG-20220830-WA0000
महराजगंज

फरेन्दा पुलिस कर रही मनमानी, पाँच भाइयों के नाम पट्टे की जमीन को जबरन एक भाई को दिला रही कब्जा-

महराजगंज – फरेन्दा थाना के अन्तर्गत आने वाले वनटांगिया गाँव भारी बैसी में प्रशासन कर रही मनमानी।

आपको बता दें मामला 5 भाइयों के आपसी बँटवारे का है जिसमें फरेन्दा थाने के एक एस आई और कुछ सिपाही जबरदस्ती करा रहे एकतरफा कब्जा ।

5 भाइयों में एक भाई अपने हिस्से की जमीन पर पहले ही मकान बना चुका है और अब पूरे हिस्से को कब्जाने की फिराक में है ।

उसके इस कृत्य में फरेन्दा थाने की पुलिस पूरा सहयोग कर रही है ।

अभी कुछ दिन पहले इसी थाने पर तैनात एक एस आई की शिकायत एसपी से हुई थी जिसके के बाद उनका तबादला कर दिया गया ।

अब एक बार फिर इस जमीन पर कब्जा दिलाने के लिए पुरजोर कोशिश मे लगी है ।

मीडिया द्वारा मामले की जानकारी माँगे जाने पर फरेन्दा पुलिस कुछ भी बोलने से कर रही थी परहेज,
जो एस आई और सिपाही वहाँ कब्जा कराने आये थे वो अपना नेम प्लेट तक नही लगाये थे जब उनसे नेम प्लेट न लगाने की वजह पूछी गयी तो उसने कहा कि हम लोग लगायें या नही हमारी मर्जी और हमारा इतिहास फरेन्दा वालों से पूछ लेना हम कैसे हैं ।

जब किसी आदेश सम्बन्धी जानकारी माँगी गयी तो भी उसने कहा मुझे किसी आदेश की आवश्यकता नही है ।

यही दरोगा साहब अभी कुछ दिन पहले फर्जी आदेश लेकर कब्जा कराने पहुँचे थे जब विरोध हुआ तो उस दिन भाग खडे हुए
इन्होने जो आदेश हमें दिखाया वह लेखपाल द्वारा रिपोर्ट लगायी गयी है जबकि लेखपाल चन्द्र मणि ने बताया कि मैने कोई रिपोर्ट नही दिया है ।

जब पुनः एस ओ का चार्ज लिए विजय कुमार सिंह से लेखपाल के रिपोर्ट में पूछा गया तो उन्होने कहा कि लेखपाल को लेकर थाने पर आइये परन्तु लेखपाल हिलाहवाली करके जाने से मना कर दिया ।

एसडीएम फरेन्दा ने एक प्रार्थना पर एस ओ फरेन्दा को आदेशित किया कि मौके पर जाकर रिपोर्ट दें और अगले आदेश तक यथा स्थिति बनाये रखें
पर फरेन्दा पुलिस एसडीएम के आदेश की धज्जियाँ उडाते हुए कब्जा दिलाने में मशगूल है ।

सबसे मजे की बात यह है कि 27 जून 2021 को फरेन्दा थाने पर ही एक सुलहनामा लिखवाया गया कि दोनों पक्ष 4 दिन में मिल बैठकर आपसी सहमति बनाकर आगे की कार्य वाही करें परन्तु दोनों पक्षों में कोई समझौता नही हो पाया और फरेन्दा पुलिस आज फिर पहुँच गयी कब्जा दिलाने ।

सारे प्रकरण को देखने के बाद ऐसा प्रतीत होता है कि फरेन्दा पुलिस फुल फार्म में है और उसे किसी के आदेश और अधिकारों से कोई लेना देना नही है वो अपनी मर्जी से चलती है ।

उपरोक्त प्रकरण के सन्दर्भ में जानकारी लेने के लिए जब एस ओ फरेन्दा गिरजेश उपाध्याय के सी यू जी नम्बर पर सम्पर्क करने का प्रयास किया गया तो उन्होने फोन नही रिसीव किया ।

ऐसे में कैसे कल्पना किया जाय,कि पुलिस किसी के साथ न्याय कर सकेगी
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार एक तरफ महिला सशक्तिकरण और उत्थान में कई सारी योजनाएँ बना रही है और दूसरी तरफ पुलिस उनकी धज्जियाँ उडा रही है और हमेशा औरतों को जेल भेज दे रही है।

Related Articles

Back to top button