WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.27 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.28 AM (1)
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.28 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.29 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.30 AM
WhatsApp Image 2022-08-17 at 6.06.31 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.36 AM (1)
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.36 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.35 AM
WhatsApp Image 2022-08-29 at 11.34.35 AM
IMG-20220819-WA0003
IMG-20220830-WA0000
सतना

जोवा ग्राम पंचायत का भंडाफोड़ सच का खुलासा सरपंच और सचिव के द्वारा मनरेगा कार्यों में अनियमितता मजदूरों के पेट के साथ खेला जा रहा है वेढ़गा खेल

जोवा ग्राम पंचायत में सरपंच और सचिव के द्वारा मनरेगा कार्यों के प्रति भूमिका सही नहीं
सरपंच और सचिव के द्वारा मनरेगा कार्यों को कम समय में पूरा करने के लिए जेसीबी मशीन का सहारा आखिर क्यों जवाब दें
जाेवा ग्राम पंचायत के निवासियों का आरोप है कि मेड बंधानी का कार्य मजदूरों से नहीं जेसीबी से कराया गया है आखिर क्यों जवाब दें
वहीं पर उपस्थित श्याम किशोर वर्मा जी पंचायत के उपसरपंच का कहना है कि यह कार्य मनरेगा के तहत नहीं स्वयं के पैसे के द्वारा कराया गया है सच्चाई कितनी है जांच के बाद पता चलेगी

मैहर तहसील के अंतर्गत ग्राम पंचायत जोवा में इन दिनों सरपंच और सचिव के द्वारा मनरेगा कार्यों में भारी लापरवाही देखने को मिल रही है, जिसमें शासन प्रशासन की नजर नहीं पहुंच पा रही है गांव वालों का आरोप है कि सरपंच ओम प्रकाश यादव और सचिव राम रूप शर्मा के द्वारा कुछ दिन पहले मेड बांधनी का कार्य कराया जा रहा था वही मजदूरों से ना करा कर जल्दी कार्य को पूरा करने के चक्कर में जेसीबी मशीन का सहारा लिया जा लिया गया था, जबकि यह सरासर गरीबों के साथ अन्याय और उनके पेट के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है एक ओर कोरोना काल में गरीब मजदूर को कहीं पर काम नहीं मिल रहा है और अगर पंचायत द्वारा कोई कार्य कराया जाता है तो गांव वालों का आरोप है कि यह कार्य जेसीबी मशीन के द्वारा पूर्ण किया गया है गांव वालों का कहना है कि सरपंच ओम प्रकाश यादव एवं सचिव राम रूप शर्मा के द्वारा यह कार्य भारी रकम ऐंठने के चक्कर में कार्य कम समय में पूर्ण हो सके इस कारण मजदूरों से काम न लेकर जेसीबी मशीनों से मेड बंधाई का काम मनमानी तरीके से जेसीबी का सहारा लेकर करवाया गया है गांव वालों का कहना है कि तहसीलदार और एसडीएम साहब से निवेदन है कि जिस तरह से जो पंचायत सरपंच और सचिव के द्वारा कार्यों के लिए मनमानी की जाती है तो इन कार्यों की पुनः जांच करवाई जाए व वाकई में काम मजदूरों से हुआ या फिर अन्य साधनों का उपयोग किया जाता है जिस तरह से करोना काल में मजदूर काम को लेकर परेशान है एक एक रुपए के लिए परेशान है अगर पंचायतों के द्वारा मनरेगा कार्यो को जेसीबी मशीन के द्वारा कार्य को पूर्ण किया जाता है तो मजदूरों के पेट के साथ बहुत ही बड़ा अन्याय और खिलवाड़ किया जाता है जवाब दें।

मुकेश श्रीवास्तव सतना

Related Articles

Back to top button